Sai Baba Ke Gyarah Vachan साईं बाबा के 11 वचन

शिर्डी के साईं बाबा एक महान संत थे जिन्होंने अपने पूरे जीवन काल में हजारों लोगों को रोग मुक्त किया। जो भी शिर्डी के साईं बाबा के पास आता था उसके जीवन के तमाम कष्टों से उसे मुक्ति मिल जाया करती थी।

साईं बाबा की प्रसिद्धि है इस तरह हर तरफ फैल गई थी जैसे उनके पास आने से हर समस्या का समाधान होना तय है। साईं बाबा ने अपने जीवन काल में कई अच्छी बातें अपने शिष्यों को सिखाई थी उन्हीं में से एक है साईं बाबा के 11 वचन।

साईं बाबा के 11 वचन साईं बाबा द्वारा सिखाए गए भक्ति मार्ग का सारांश है। आइए पढ़ते हैं साईं बाबा के 11 वचन को और इनका पालन करते हैं। साईं बाबा के कई दुर्लभ मंत्र है जो आज भी शीघ्र असर दिखाते हैं। साईं कष्ट निवारण मंत्र साईं बाबा का एक बेहद शक्तिशाली साईं मंत्र है।

Sai Baba Ke Gyarah Vachan साईं बाबा के 11 वचन

  1. जो शिरडी में आयेगा आपदा दूर भगाएगा
  2. चढ़े समाधि की सीढ़ी पर पैर तले दुख की पीढ़ी पर
  3. त्याग शरीर चला जाऊंगा भक्त हेतु दौड़ा आऊंगा
  4. मन में रखना दृढ़ विश्वास करें समाधि पूरी आस
  5. मुझे सदा जीवित ही जानो अनुभव करो सत्य पहचानो
  6. मेरी शरण आ खाली जाए हो तो कोई मुझे बताए
  7. जैसा भाव रहा जिस जन का वैसा रूप हुआ मेरे मन का
  8. भार तुम्हारा मुझ पर होगा वचन ना मेरा झूठा होगा
  9. आ सहायता लो भरपूर जो मांगे वह नहीं है दूर
  10. मुझमें लीन वचन मन काया उसका ऋण न कभी चुकाया
  11. धन्य धन्य वह भक्त अनन्य मेरी शरण तज जिसे ना अन्य

आज भी साईं बाबा के भक्त साई रक्षा मंत्र और साईं दुख निवारण मंत्र के जाप द्वारा साईं बाबा की कृपा प्राप्त करते हैं। शिर्डी के साईं बाबा एक महान संत हैं जो मरने के बाद भी जीवित है।

साईं बाबा की महिमा का जितना भी बखान किया जाए वह कम है। साईं बाबा के सभी भक्त आज भी साईं बाबा के चमत्कार का अनुभव करते रहते हैं। अगर आपको भी ऐसे किसी चमत्कार का अनुभव प्राप्त हुआ हो तो कृपया हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं हमें आपके अनुभवों से प्रेरणा मिलेगी।

साईं बाबा के मंत्र के अलावा छात्रों के लिए शक्तिशाली सरस्वती मंत्र भी एक शक्तिशाली मंत्र है। इस मंत्र का जाप और सुमिरन हर विद्यार्थी को करना चाहिए। इसके साथ ही लक्ष्मी कुबेर मंत्र का जाप भी हमें अवश्य करना चाहिए।

इसी प्रकार की जानकारियों के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें और हमारे साथ जुड़े रहें।

Leave a Comment