Blood Group Kitne Prakar Ke Hote Hain

Blood Group Kitne Prakar Ke Hote Hain ब्लड ग्रुप के प्रकार

इस लेख में आप जानेंगे की रक्त क्या है और ब्लड ग्रुप कितने प्रकार का होता है ( Blood Group Kitne Prakar Ke Hote Hain )

दोस्तों अपने ब्लड ग्रुप के बारे में सुना होगा जैसे A+ या O- इत्यादि लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की एक ही जैसा दिखने वाला खून को क्यों अलग अलग वर्गों में बातें गया है। आज इस लेख में हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे।

Who Discovered Blood Group

ब्लड ग्रुप की खोज करने का श्रेय ऑस्ट्रलिया के फिजिशियन कार्ल लैंडस्टीनर को जाता है। प्राचीन काल में ऐसी मान्यता थी कि इंसानी शरीर में दो प्रकार का रक्त होता है एक अच्छा और दूसरा बुरा। कार्ल लैंडस्टीनर ने ये प्रमाणित किया कि सभी मनुष्यों में एक ही तरह का खून होता है। उन्होंने ही सर्वप्रथम ये पता लगाया था कि एक व्यक्ति का रक्त दूसरे व्यक्ति को नहीं चढ़ाया जा सकता है। सन 1930 में कार्ल लैंडस्टीनर को उनके महान खोजों के लिए प्रसिद्ध नोबेल पुरस्कार भी मिला। कार्ल लैंडस्टीनर को ट्रांसफ्यूजन मेडिसन का पितामह भी कहा जाता है।

मानव शरीर में लगभग कितना खून होता है

मानव शरीर में करीबन 5 लीटर खून होता है जो हर समय हमारे नसों के माध्यम से हमारे शरीर के सभी अंगों तक पहुंचते रहता है। खून प्लाज्मा और रक्त कणों से मिलके बनता है। प्लाज्मा एक निर्जीव तरल माध्यम हैं जिसमे रक्त कण तैरते हैं और प्लाज्मा के सहारे ही रक्त कण पुरे शरीर तक पहुंचते हैं।

रक्त हमारे शरीर में क्या कार्य करता है Rakt Ke Karya

रक्त हमारे शरीर में निम्नलिखित कार्य करता है।

  • हमारे शरीर में ऑक्सीजन को फेफड़े से लेकर कोशिकाओं तक और कोशिकाओं से कार्बन डाइऑक्साइड को लेकर फेफड़ों तक पहुंचाना रक्त का कार्य है ।
  • रक्त भोजन से प्राप्त आवश्यक तत्वों जैसे- ग्लूकोज को शरीर की विभिन्न कोशिकाओं तक पहुंचाता है।
  • रक्त का एक मुख्य कार्य हार्मोन्स को शरीर के उपयुक्त स्थानों तक पहुँचाना है।
  • मानव शरीर में रक्त का काम है शरीर के तापक्रम को संतुलित बनाये रखना।
  • रक्त शरीर में उत्पन्न हानिकारक पदार्थों को मल मूत्र तथा पसीने के द्वारा शरीर से बाहर पहुंचाने का कार्य करता है।

ब्लड ग्रुप कितने प्रकार का होता है Blood Group List

मनुष्य के शरीर में 4 प्रकार के ब्लड पाए जाते हैं जिन्हे हम A, B, AB, और O कहके बुलाते हैं। इन्ही में से RhD पॉजिटिव और RhD नेगेटिव ब्लड ग्रुप बनते हैं। इस प्रकार कुल 8 ब्लड ग्रुप होते हैं।

  • A Rhd Positive A+
  • A Rhd Negative A-
  • B Rhd Positive B+
  • B Rhd Negative B-
  • AB Rhd Positive AB+
  • AB Rhd Negative AB-
  • O Rhd Positive O+
  • O Rhd Negative O-

ब्लड ग्रुप चार्ट Blood Group Chart

Most Common Blood Group In India

भारत में पाए जाने वाले ब्लड ग्रुप का प्रतिशत इस प्रकार हैं।

  • O+ : 32.53%
  • O- : 2.03%
  • A+ : 21.8%
  • A- : 1.36%
  • B+ : 32.09%
  • B- : 2.01%
  • AB+ : 7.7%
  • AB- : 0.48%

ब्लड ग्रुप कैसे चेक करते हैं

ब्लड ग्रुप की जांच करवाने के लिए आपको आपके नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाना होगा जहाँ खून जाँच की सुविधा उपलब्ध हो। वहां लैब तकनीशियन आपका थोड़ा सा खून इंजेक्शन या पिन की सहायता से निकालेंगे और उसे जाँच करके आपका ब्लड ग्रुप आपको बता देंगे। इस प्रक्रिया में 30 मिनट तक का समय लग सकता hai.

आपको आपका ब्लड ग्रुप क्यों पता होना चाहिए

आपको आपके ब्लड ग्रुप की जानकारी होनी इसलिए आवश्यक है क्यूंकि आप समय पड़ने पर किसी की सहायता कर सकें अन्यथा इस प्रक्रिया में थोड़ी सी भी लापरवाही और देरी किसी की जान ले सकती है।

Blood Group For Marriage

मेडिकल साइंस के अनुसार विवाह करते वक़्त blood group compatibility for marriage का ध्यान रखा जाना चाहिए। कभी कभी पति और पत्नी के ब्लड ग्रुप में सही तालमेल ना होने से उनके बच्चों को स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्यायों का सामना करना पद सकता है।

Blood Group In Hindi

ब्लड ग्रुप को हिंदी में रक्त समूह कहा जाता है। रक्त समूह के बारे में संपूर्ण जानकारी हम ऊपर के पैराग्राफ में दे चुके हैं।

Conclusion

हमें उम्मीद है की अब आप समझ गए होंगे की रक्त क्या है और ब्लड ग्रुप कितने प्रकार का होता है (Blood Group Kitne Prakar Ke Hote Hain) अगर आपके कुछ सवाल हैं तो आप हमें कमेंट में पूछ सकते हैं।

सम्बंधित लेख : Paramedical Kya Hai और पैरामेडिकल की पढाई कैसे करें।

नयी जानकारियों के लिए आप हमारा यूट्यूब चैनल और टेलीग्राम चैनल भी ज्वाइन कर सकते हैं जिनका लिंक नीचे दिया हुआ है।
SUBSCRIBE AJANABHA YOUTUBE CHANNEL
JOIN AJANABHA TELEGRAM GROUP

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *