Sai Baba Ke Chamatkari Mantra शीघ्र फल देने वाले शक्तिशाली साई मंत्र

शिरडी के महान संत साईं बाबा को कौन नहीं जानता। साईं बाबा भारत के महान संतों में सर्वोपरि हैं जिन्होंने पुरे जीवन भर मानव कष्टों को काम करने के लिए काम किया। ऐसे महान संत के चरणों में हमारा नमन है और ये प्रार्थना है की हमारे आपके, हम सबके जीवन में खुशहाली हो। साईं बाबा शिरडी में निवास करते थे और सदैव साधारण भेषभूषा में रहते थे। उनकी जीवन शैली अत्यंत सरल थी और घमंड तो उन्हें छू भी नहीं पाया था।

श्री गोविन्दराव रघुनाथ दाभोलकर जिन्होंने सन 1910 से लेके सन 1918 तक साईंचरित्र की रचना की थी उन्होंने साई चरित्र में बाबा द्वारा किये गए कई सामाजिक कार्यों का वर्णन किया है। साई बाबा के जीवन का एक ही मकसद था की लोग एक ईश्वर के सिद्धांत पर विश्वास करें। ” सबका मालिक एक है ” ये साईं बाबा के ही कथन हैं। साईं बाबा सामाजिक बुराइयों के खिलाफ थें और लोगों को झूठ, ढकोसले और ज्योतिष विद्या में अंध्विश्वास के प्रति जागरूक करते थे।

क्या आप जानते हैं की शिरडी साईं मंदिर की तरह देश में और भी साईं मंदिर हैं जिनमे चेन्नई के मायलापुर में शहर के केंद्र में स्थित sai baba temple mylapore बहुत ही मशहूर है और यहाँ भी साईं बाबा के भक्तों की लम्बी कतार लगती है। इस मंदिर के बारे में आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके जान सकते हैं। आप Sai Baba Temple Mylapore के ऊपर हमारा विस्तृत लेख पढ़ सकते हैं।

ऐसी कई घटनाएं हुई जब ज्योतिषी द्वारा की गयी भविष्यवाणी गलत साबित हुई और साईं बाबा द्वारा कहे गए वचन सत्य साबित हुए। बाबा इस बात पर बल देते थे की मनुष्य को कर्मवादी होना चाहिए ना की भाग्यवादी। बाबा के हाथों जीवन भर चमत्कार होते रहे और आज बाबा द्वारा समाधी लिए जाने के बाद भी उनके द्वारा चमत्कार होते hain.

साईं चरित्र में लिखी हुई कथाओं के अनुसार बाबा अपने भक्तों के कष्टों को स्वयं अपने ऊपर ले लेते थे और भक्तों को इस बारे में पता तक नहीं चलने देते थे। वैसे तो साईं बाबा का नाम सुमिरन करना ही उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए काफी है किन्तु सामाजिक मान्यताओं के अनुसार हम कुछ मन्त्रों की जानकारी इस लेख के माध्यम से दे रहे हैं जिनका जाप करने से आपको असीम कृपा की प्राप्ति होगी। साईं बाबा के कुछ विशेष साईं मंत्र इस प्रकार हैं।

-: साई बाबा के कष्ट निवारण मंत्र Sai Baba Kasht Nivaran Mantra :-

१। ॐ साईं नाथाय नमः

२। ॐ साईं राम

३। ॐ साईं गुरुवाय नमः

४। ॐ साईं देवाय नमः

५। ॐ समाधिदेवाय नमः

६। ॐ सर्वदेवाय रूपाय नमः

७। ॐ अजर अमराय नमः

८। ॐ मालिकाय नमः

९। साईं राम

१०। जय जय साईं राम

११। ॐ सर्वज्ञा सर्व देवता स्वरुप अवतारा

१२। ॐ शिरडी देवाय नमः

१३। ॐ साईं नमो नमः श्री साईं नमो नमः जय जय साईं नमो नमः सद्गुरु साईं नमो नमः

१४। ॐ शिरडी वासाय विद्महे सच्चिदानन्दाय धीमहि तन्नो साईं प्रचोदयात ( Sai Gayatri Mantra )

साई बाबा को मानने वाले सदैव बाबा की उपस्थिति का एहसास करते रहते हैं और आये दिन बाबा के भक्तों को नए नए अनुभव प्राप्त होते रहते हैं और होते रहेंगे क्यूंकि साईं बाबा ने ये कहा था की मेरे मरने के बाद भी मैं अपने भक्तों के लिए सदैव आता रहूँगा, मेरी समाधिस्थल पर जो भी आएगा उसके सारे कष्ट समाप्त हो जायेंगे और मुझे मानने वाला कभी निराश नहीं होगा। अगर आपको भी बाबा से जुड़ा कोई अनुभव हुआ हो तो कृपया हमसे साँझा करें हम आने वाले लेखों में आपके अनुभव ज़रूर प्रकाशित करेंगे। नियमित रूप से ऐसी ही ज्ञानवर्धक जानकारियों के लिए अजनाभ को सब्सक्राइब करें। आपके सहयोग और प्रेम के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद्। जय हिन्द।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *