CHC Full Form

CHC Full Form | CHC का फुल फॉर्म क्या है

इस लेख में हम आपको CHC का फुल फॉर्म क्या है (CHC Full Form) और CHC क्या है, इन सब के बारे में पुरे विस्तार से बताएँगे।

आप सभी ने CHC का नाम तो सुना ही होगा लेकिन बहुत लोगो को इसके बारे में जानकारी नहीं है। इसलिए जिन लोगो को CHC क्या है या CHC का फुल फॉर्म क्या होता है इसके बारे में थोड़ा भी जानकारी नहीं है तो आप चिंता न करे, क्युकी इस पोस्ट में हम आपको इससे सम्बंधित पूरी जानकारी देने वाले है। इसलिए आप सभी लोग इस पोस्ट को पुरे ध्यान से और अंत तक पढियेगा।

CHC का फुल फॉर्म क्या है?

CHC का फुल फॉर्म “Community Health Centers” होता है। इसका हिंदी में अर्थ “सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र” होता है। इसका मुख्य उद्देश्य किसी भी परिवार के सदस्यों या व्यक्तियों को उनके पर्यावरण और सामाजिक परिस्तिथियों को ध्यान में रखते हुवे उचित और बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना है।

CHC में उपलब्ध जो भी सेवाएं है वो परिवार के सदस्यों और उस क्षेत्र में रहने वाले लोगो की जरुरत के हिसाब से निर्भर रहता है अर्थात उस व्यक्ति की जितनी क्षमता होती है उस हिसाब से उसका उपचार किया जाता है और इसके बदले में उस व्यक्ति से बहुत ही कम शुल्क लिया जाता है। अगर वह व्यक्ति उतना शुल्क भी देने में सक्षम नहीं होता तो उसे मुफ्त में भी सेवाएं दी जा सकती hai.

आपने अक्सर देखा होगा की हर शहर या गांव में एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र होता है। जहा लोग अपने स्वास्थ्य से संबंधित जानकारियों के लिए या फिर इलाज़ के लिए यहाँ जाते है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र निजी, गैर लाभकारी संस्थाए होती है जहा लाभार्थियों को उनके भागीदारी और प्रभाव के आधार पर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाती hai.

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मुख्य रूप से वह स्थापित किया जाता है जिन क्षेत्रों में स्वास्थ्य से संबंधित लोगो की देखभाल के लिए कोई अस्पताल नहीं होते है। ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबो की संख्या ज्यादा होती है जिसके वजह से पैसे की कमी के कारण उन लोगो को अच्छी स्वास्थ्य संबंधित जरुरी उपचार नहीं मिल पाता hai.

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का काम बीमारियों को नियंत्रण में रखना तथा स्वास्थ्य संवर्धन पर ध्यान केंद्रित करना रहता है। जिससे की उस क्षेत्र में रहने वाले व्यक्तियों की स्वास्थ्य संबंधित परेशानियों का हल किया जा सके। इसके अलावा वहा के निवासियों की भलाई के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र द्वारा कैंप भी लगाया जाता है और लोगो को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया जाता hai.

इसके साथ ही लोगो की तीव्र स्वास्थ्य के लिए सबसे सस्ते दामों में दवाइया प्रदान की जाती है। फिलहाल CHC अपनी सेवाएं जनजाति क्षेत्रों में 80 हजार, पहाड़ी व रेगिस्तानी इलाकों में 1.2 लाख लोगो को मुहैया करा रहा है जो की बहुत ही अच्छी बात है।

रिपोर्टो के अनुसार 2015 में भारत सरकार ने स्वास्थ्य देखभाल के बजट में पहले से 15 फीसदी की कटौती कर दी थी जिसकी वजह से सरकार की चारो तरफ बहुत आलोचना हुई थी। फिलहाल अगर देखा जाये तो देशभर के CHC में सर्जनों की 83 फीसदी की कमी है। भारत में कुछ तो ऐसे भी राज्य है जहा CHC में एक भी सर्जन नहीं है जैसे की केरल, मणिपुर, मेघलाय, अरुणाचल प्रदेश और तमिलनाडु hai.

इसके अलावा CHS में भी स्त्री और प्रसूति रोग विशेषज्ञों की 74 फीसदी कमी है। इस हिसाब से आप सोच सकते है की इसका स्वास्थ्य व्यवस्था पर क्या असर पड़ता होगा। WHO विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार भारत में सबसे ज्यादा मौते नवजात शिशु, बच्चे और मातृ की होती है।

सामुदायिक स्वास्थ्य सेवाओं का उद्देश्य ?

सामुदायिक स्वास्थ्य सेवाओं का मुख्य उद्देश्य वहा पर निवास कर रहे लोगो के स्वास्थ्य सम्बंधित परेशानियों का निवारण करना है। इसके आलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण करके लोगो को जागरूक करना है। अन्य प्राथमिक स्वास्थ्य प्रदाताओं के साथ मिलकर वहा के लोगो की सहायता हेतु सस्ते सस्ते दामों में दवाइया ईपलब्ध कराना होता hai.

जीवन शैली से संबंधित स्तिथियो और बीमारियों के रोकधाम के लिए कार्य करना। भौतिक पर्यावरण में सुधार के लिए जगह जगह कार्यक्रम करना और लोगो को इसके बारे में जानकारी मुहैया करवाना। इसके अलावा उन क्षेत्रों में जाकर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना जहा इसकी ज्यादा आवश्यकता hai.

इसके अतिरिक्त सामुदायिक स्वास्थ्य सेवाओं का उद्देश्य स्थानीय रोगों सहित संचारी और गैर संचारी रोगों को नियंत्रण एवं निवारण करना होता है। ग्रामीण क्षेत्रों की जनता के स्‍वास्‍थ्‍यप्रद जीवन शैली को बढावा देने का कार्य भी करती है। महिलाओ और बच्चो की स्वास्थ्य गुणवत्ता की लगातार जाँच करते रहना ताकि इससे उनको आने वाली बीमारियों से बचाया जा sake.

आशा करते है की हमारा ये लेख आपको पसंद आया होगा। अगर आपका कोई प्रश्न है इससे संबंधित तो आप बेझिझक हमसे पूछ सकते है।
रोज़ कुछ नया सीखने के लिए हमें सब्सक्राइब करें। आप हमारा यूट्यूब चैनल और टेलीग्राम चैनल से भी जुड़ सकते हैं जिसका लिंक हमने नीचे दिया हुआ है।
SUBSCRIBE AJANABHA YOUTUBE CHANNEL

JOIN AJANABHA TELEGRAM GROUP

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *