DCA क्या है और कैसे करें ? DCA course Syllabus | DCA Computer Course in Hindi

नमस्कार दोस्तों! आजकल पढ़ाई करने के बाद भी नौकरी की समस्या बनी रहती है। इस वजह से कभी कभी हमें महसूस होता है कि आखिर हमने इतनी पढ़ाई की है फिर हमें रोजगार की समस्या से क्यों जूझना पड़ रहा है। दोस्तों आजकल पढ़ाई के साथ-साथ कंप्यूटर का ज्ञान बहुत ही जरूरी है। कंप्यूटर का ज्ञान आपको आसानी से एक जॉब दिलाने में मदद करता है इसलिए इस आर्टिकल में हम आपको डीसीए के बारे में बताने जा रहे हैं।

यह बहुत ही उपयोगी कंप्यूटर कोर्स है और इसे करने के बाद निश्चित रूप से आपको एक अच्छी नौकरी मिल सकती है।जैसा कि आजकल हर व्यक्ति चाहता है कि उसके पास एक अच्छी नौकरी हो तो इस कंप्यूटर को इस कंप्यूटर कोर्स को करने के बाद आपका यह सपना आसानी से पूरा हो सकता है और आपको एक बेहतर जीवन जीने के लिए अच्छी नौकरी मिल सकती है।

आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे की DCA क्या है?, DCA कोर्स करने के क्या फ़ायदे है?, DCA में कितने विषय होते हैं? (DCA me kitne subject hote hai) और DCA की फ़ीस कितनी है? (DCA Ki Fees) इत्यादि।

डीसीए का फुल फॉर्म DCA Full Form in Computer Course

कंप्यूटर के क्षेत्र में DCA का फुल फॉर्म है : Diploma in computer application

DCA Kya Hota Hai | DCA क्या होता है?

DCA एक कंप्यूटर कोर्स है जिसे पूरा करने की अवधि 6 महीने से 1 साल के बीच होती है। इस कोर्स में हम कंप्यूटर के एप्लीकेशन के बारे में सीखते हैं जिससे हम कंप्यूटर पर किये जाने वाले सभी बेसिक काम कर पाने में सक्षम हो जाते हैं। इस कोर्स में कंप्यूटर बेसिक, MS Office Application से लेके सॉफ्टवेयर तक की पढ़ाई होती है जिससे की आपको कंप्यूटर की अच्छी खासी जानकारी हो जाती है।

डीसीए कंप्यूटर कोर्स में हम एप्लीकेशन बनाना, प्रोग्राम की कोडिंग लिखना,माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस और कई अन्य एप्लीकेशन को चलाना सीखते हैं। यह काफी कम अंतराल का कोर्स है लेकिन इसमें हमें कंप्यूटर के बारे में बहुत बढ़िया जानकारियां प्राप्त हो जाती हैं। डीसीए कंप्यूटर 12वीं के बाद किया जा सकता। है यह एक डिप्लोमा कोर्स है और इसमें थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों की पढ़ाई कराई जाती है।

DCA कोर्स किसके लिए है?

जिन विद्यार्थियों को कंप्यूटर में रुचि है उन्हें डीसीए कोर्स जरूर करना चाहिए। जिन विद्यार्थियों ने 11वीं में कंप्यूटर को एक ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में लिया है यह कोर्स उनके लिए विशेष रूप से उपयोगी है।

DCA करने की अवधि क्या है?

DCA में कई सारे कोर्स होते हैं और इसकी समय सीमा 6 महीने से लेकर 1 साल तक की होती है।

DCA में कौन से विषय होते है? (Subject In DCA) DCA course Syllabus

चलिए अब जान लेते हैं की DCA me kitne subject hote hai.

Programming languages – प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में हम प्रोग्राम को चलाना सीखते हैं। इसमें हम c language ,c++ language और भी कई सारे कंप्यूटर लैंग्वेज सीखते हैं।
Microsoft office – इसमें हम MS word , MS PowerPoint ,MS Access ,MS Excel MS paint इत्यादि की पढ़ाई करते हैं। साथ ही साथ हम wordpad और notepad की भी पढ़ाई करते हैं।
Tally – इसमें हमें Tally के बेसिक के बारे में सीखते है।
Typing – इसमें हम Hindi और English की typing सीखते हैं।
Basic Of Computer- इस में हम कंप्यूटर के बारे में बेसिक पढ़ाई करते हैं।
Database management – Data base management की पढ़ाई करने से हम किसी भी प्रकार के डाटा को सुरक्षित रखना सीखते हैं।
System Designing – System Designing में हम डिजाइन करना जैसे कोई विजिटिंग कार्ड या इन्फोग्राफिक बनाना सीखते हैं।
Financial accounting system – इसमें हम एकाउंटिंग सीखते हैं।
Unix operating system –  इस में हम UNIX ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में पढ़ाई करते हैं।
Project management – प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कोर्स में हम एक प्रोजेक्ट को मैनेज करना सीखते हैं।

DCA की फीस कितनी होती है? (DCA Course Fees)

इस कोर्स की फीस 5000 से लेकर 20000 के बीच होती है और ये अलग अलग कंप्यूटर इंस्टिट्यूट पर निर्भर करती है।

हमें डीसीए कोर्स क्यों करना चाहिए

जैसा कि हमने आपको बताया कि पढ़ाई के साथ-साथ अगर कंप्यूटर की जानकारी हो तो नौकरी मिलने की संभावना है कई गुना बढ़ जाती हैं इसलिए अगर आज के टेक्नोलॉजी के युग में आप सफल होना चाहते हैं तो इस कोर्स को जरूर करें इससे आपको आसानी से नौकरी मिल जाएगी और आप तकनीकी रूप से काफी उन्नत होंगे।

DCA Course करने के फ़ायदे (Benefit Of DCA)

डीसीए कोर्स करने के बाद हमें डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन का सर्टिफिकेट मिलता है जिससे कि हमारे नौकरी मिलने की संभावना है कई गुना बढ़ जाती है। इसके अलावा अगर आपने डीसीए कोर्स किया हुआ है तो आपको बीसीए के सेकंड सेमेस्टर में डायरेक्ट प्रवेश मिल जाता है।

DCA कोर्स कैसे करे

अपने देश के हर शहर में डीसीए कोर्स के लिए कई सारे इंस्टिट्यूट है। सबसे पहले आप आपके शहर के सबसे अच्छे कंप्यूटर इंस्टिट्यूट के बारे में जानकारी हासिल करें। आप चाहें तो उन विद्यार्थियों से भी पता कर सकते हैं जिन्होंने उन इंस्टिट्यूट से पहले DCA कोर्स पूरा किया है। साथ ही साथ आप उस इंस्टिट्यूट के Review ज़रूर जांच कर लें।

DCA करने के बाद JOB

Data operator:- डीसीए कोर्स के पूरा होने के बाद आप डाटा ऑपरेटर का काम कर सकते हैं। इसके लिए आपको आपकी टाइपिंग स्पीड बढ़ानी होगी जिसे आप प्रैक्टिस करने से बढ़ा सकते हैं। साथ ही साथ आपको ट्रांसलेशन की भी जानकारी होनी चाहिए ताकि अगर किसी दूसरे लैंग्वेज से हिंदी या इंग्लिश में ट्रांसलेशन करना पड़े तो आपको यह पता होना चाहिए कि यह कैसे करना है।

Graphic designer:- अगर आप को डिजाइनिंग करना पसंद है तो आप एक ग्राफ़िक डिज़ाइनर बन सकते हैं। इस काम में ग्रीटिंग कार्ड, विजिटिंग कार्ड, पोस्टर डिज़ाइन, शादी के कार्ड डिज़ाइन इत्यादि काम करने होते हैं।

Web developer:- अगर आपको वेब डिजाइनिंग में रूचि है और आप एक वेब डेवलपर के रूप में काम करना चाहते हैं तो आप DCA कोर्स के बाद ऐसे काम कर सकते हैं।

C++ developer:-  आप C++ developer के बन सकते हैं और App Development का काम कर सकते हैं।

Accountant:-  DCA कोर्स करने के बाद आप accountant की नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। इस कोर्स में tally की पढाई कराइ जाती है जिससे आपको अकाउंट के काम करने में बहुत आसानी होती है।

DCA Course करने के लिए Best Institute

  • University of Madras   
  • Alagappa University
  • University of Calcutta   
  • Savitribai Phule Pune University
  • Kalinga Institute of Industrial Technology
  • Punjab University
  • Jadavpur University
  • Jamia Millia Islamia
  • Aligarh Muslim University
  • Gujarat Technological University
  • University of Rajasthan
  • Gujarat University
  • University of Allahabad
  • University of Mumbai
  • Amity University
  • Banaras Hindu University
  • Barkatullah University

इस अर्टिकल में अपने सीखा की DCA कोर्स क्या है? DCA Computer Course in Hindi, DCA Course Fees इत्यादि। हमें उम्मीद है की इससे आपको बहुत फायदा होगा। नयी जानकारियों के लिए हमें सब्सक्राइब करें और हमें सोशल मीडिया जैसे की Facebook, Instagram और Famenest पर फॉलो करें।

Sharing Is Caring:

अनिकेत सिन्हा एक Internet Entrepreneur हैं। वो Ajanabha और Famenest Social Media Site के फाउंडर हैं।

Leave a Comment