Computer Ka Avishkar Kisne Kiya कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया

Computer Ka Avishkar Kisne Kiya

आज आप जानेंगे की computer ka avishkar kisne kiya और सबसे पहला कंप्यूटर का नाम क्या था। तो चलिए जानते हैं की कंप्यूटर की खोज किसने की।

कंप्यूटर क्या है What is a computer in Hindi

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो यूजर द्वारा दिए गए इनपुट को प्रोसेस करके सूचनाओं को रिजल्ट के रूप में प्रस्तुत करता है। कंप्यूटर एक सेकंड में लाखों गणनाएं कर सकता है जो करने में मनुष्य को शायद एक जनम या कई वर्ष लग जाये। कंप्यूटर के बिना आज के जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती। आज जीवन के हर क्षेत्र में कंप्यूटर के द्वारा सारे काम किये जाते हैं।

कंप्यूटर हमारे जीवन को आसान बनाता है हमारे काम करने की गति में वृद्धि करता है। मैनुअली जो काम आपके लिए बहुत कठिन है अगर उन कामों को कंप्यूटर के माध्यम से किया जाए तो अब बहुत आसान हो जाता है। कंप्यूटर कई प्रकार के होते हैं, अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग प्रकार के कंप्यूटर का इस्तेमाल होता है। कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम भी कई प्रकार के होते हैं लेकिन जो मुख्य रूप से ऑपरेटिंग सिस्टम इस्तेमाल होता है वह है Window, Mac और Linux. आमतौर पर हमारे घरों में जो कंप्यूटर होता है उसमे Window इस्तेमाल होता है।

Mac के कंप्यूटर थोड़े महंगे होने की वजह से आम आदमी की पहुंच से बाहर होते हैं। Linux डेवलपर्स के लिए एक अच्छी चॉइस है क्योंकि एक तो यह ओपन सोर्स है यानी इसका सोर्स कोड सबके लिए उपलब्ध होता है। दूसरी बात है कि यह ज्यादा सुरक्षित और Window के मुकाबले लाइट वेट होता है।

Computer ke fayde

आज के युग में कंप्यूटर का बहुत बड़ा महत्व है और ये बात आप सभी जानते है इस टाइम अधिकांश काम डिजिटल हो रहा है । कंप्यूटर की वजह से आज आप काम समय में ढेर सारा काम कर पाते हैं जैसे ऑनलाइन टिकट बुक करना, ईमेल भेजना, वीडियो एडिट करना, ग्राफ़िक डिज़ाइन, ऑडियो डिज़ाइन जैसे हज़ारों काम हैं जिन्हे कंप्यूटर ने नया आयाम दिया है। जो काम करने में पहले आपको कई दिन लग जाते थे वो अब कुछ ही मिनटों में पूरा हो जाता है।

अगर बीसवीं शताब्दी की बात करें तो सबसे बड़ी उपलब्धि है कंप्यूटर। कंप्यूटर के आने से दुनिया बहुत तेज़ी से बदल रही है । आज हम लोग कंप्यूटर और इंटरनेट की वजह से किसी भी प्रकार का इनफार्मेशन या डाटा कुछ ही समय में भेज सकते है जो की उपयोगकर्ता के लिए बहुत ही फायदेमंद की बात है ।

दोस्तों आज कंप्यूटर की जरूरत आपको हर क्षेत्र में पढ़ती है चाहे आपको पढ़ाई करनी हो चाहे आपको कोई गाना बनाना हो आपको कोई ग्राफिक डिजाइनिंग से रिलेटेड काम करना हो। अब तो जो मशीनें आ रही हैं, जो भी फैक्ट्रियां है उसमें पूरा काम कंप्यूटर द्वारा संचालित होता है। पहले जिन कामों को करने में कई दिन लग जाते थे आज कंप्यूटर की सहायता से वह काम कुछ ही घंटों में हो जाता है।

कंप्यूटर के द्वारा आप यहां बैठे एक मित्र से बात कर पाते हैं जो आप से मीलों दूर है। आप वीडियो कॉलिंग के द्वारा एक दूसरे को देख पाते हैं। आप तमाम प्रोफैशंस में इसका इस्तेमाल कर रहे हैं जैसे आपको अगर मान लीजिए आप अगर ऑनलाइन बिल पेमेंट करना चाहते हैं या फिर अगर आप एक इनकम टैक्स फाइल करना चाहते हैं, आप रेलवे टिकट बुकिंग करना चाहते हैं आप जीवन के हर एक क्षेत्र में कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं और अब जो हमारा जीवन है वह कंप्यूटर के बिना असंभव हो चुका है।

ये भी पढ़ें : Google Pay Kya Hai गूगल पे पर अकाउंट कैसे बनाएं

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं Types of computer in Hindi

एप्लीकेशन के आधार पर गौर करें तो कंप्यूटर 3 प्रकार के होते हैं।

  • Analog Computer
  • Digital Computer
  • Hybrid Computer

अगर साइज और प्रोसेसिंग पावर के हिसाब से देखें तो कंप्यूटर 4 प्रकार के होते हैं।

  • Super Computer
  • Mainframe Computer
  • Mini Computer
  • Micro Computer

Computer Ka Avishkar Kisne Kiya कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया

सबके मन में यह सवाल आता है कि आखिर कंप्यूटर जितनी उपयोगी डिवाइस का आविष्कार किसने किया ( computer ki khoj kisne ki ) तो चलिए हम आपको बता देते हैं। कंप्यूटर का अविष्कार Charles Babbage ने किया था और उन्हें पूरी दुनिया computer inventor के रूप में जानती है। दुनिया का सबसे पहला mechanical computer सन 1822 में Charles Babbage द्वारा बनाया गया था, लेकिन ये दिखने में अभी के कंप्यूटर जैसा बिलकुल भी नहीं था। सन 1837 में Charles Babbage ने Analytical Engine नाम का पहला general mechanical computer, propose किया था। Charles Babbage का जन्म लंदन में हुआ था और वो एक मैकेनिकल इंजीनियर, गणितज्ञ और फिलॉस्फर थे।

कंप्यूटर कब बना था तो यह आज के कंप्यूटर जैसा बिल्कुल नहीं था लेकिन उनके द्वारा बनाए गए कंप्यूटर को दुनिया का पहला कंप्यूटर माना जाता है। यहीं से कंप्यूटर के युग की शुरुआत हुई। कुछ लोगों का यह मानना है कि 1622 में Abacus जिसे Tim Cranmer ने बनाया था वह दुनिया का सबसे पहला कंप्यूटर था लेकिन आपको हम यह बता दें कि आज जो कंप्यूटर हम इस्तेमाल करते हैं उसे बनाने का श्रेय Charles Babbage को ही जाता है। उनके द्वारा किए गए प्रयासों से ही आगे उस दिशा में और काम करने की प्रेरणा मिली इसी वजह से Charles Babbage को फादर ऑफ कंप्यूटर कहा जाता है। तो अब आप समझ गए होंगे की computer kisne banaya.

1830 में चार्ल्स बैबेज ने कंप्यूटर बनाने की शुरुआत की थी। उनकी प्लानिंग थी एक एनालिटिकल इंजन बनाने की जो कंप्यूटर बनाने की दिशा में पहला कदम था। 1822 में उन्होंने डिफरेंस इंजन का आविष्कार किया था जिसे पहला प्रोग्रामेबल कंप्यूटर माना जाता है। 1833 में Analytical Engine का आविष्कार किया जिसे एक जनरल पर्पस कंप्यूटर कहा जाता था।

उस समय कुछ आर्थिक कमियॉं की वजह से उस प्रोजेक्ट में कुछ कमी आ गयी और यह काम पूरा नहीं हो सका। इसके बाद 1871 में महान आविष्कारक चार्ल्स बब्बेज की मृत्यु हो गई। 1888 में उनके बेटे Henry Babbage ने इस काम को पूरा करने का जिम्मा उठाया और Analytical Engine बना कर इस काम को पूरा किया। उनके द्वारा बनाया गया Analytical Engine सभी प्रकार की गरणा करने में सक्षम था।

दुनिया का पहला पर्सनल कंप्यूटर 1975 में Altair 8800 Ed Robert के द्वारा प्रस्तुत किया गया। कई लोग 1971 में लांच किए गए Kenbak-I को पहला पर्सनल कंप्यूटर मानते हैं। जब यह कंप्यूटर लांच हुआ तो कंप्यूटर की दुनिया में एक नए शब्द ” Personal Computer “ का प्रचलन हुआ जिसे हम आज संक्षेप में PC कहते हैं। चुकी कंप्यूटर का आकार पहले काफी बड़ा हुआ करता था और इसे एक जगह से दूसरी जगह ले जाने में काफी कठिनाई होती थी।

साथ ही साथ इसका इस्तेमाल बिना बिजली के करना संभव नहीं था तो इस कमी को पूरा करने के लिए Adam Osborne ने 1981 में लैपटॉप का आविष्कार किया जो कि दुनिया का पहला लैपटॉप था। लैपटॉप में अलग से किसी डिवाइस की जरूरत नहीं थी इसमें कीबोर्ड, टचपैड, माउस, स्पीकर और माइक्रोफोन यह सारी चीजें इसके अंदर ही होती थी। लैपटॉप जैसे ही मार्केट में लॉन्च हुआ ये तेजी से प्रचलित हो गया और काफी मात्रा में लोग इसे खरीदने लगे क्यूंकि इसे एक जगह से दूसरी जगह ले जाना आसान था।

यह पोर्टेबल होने की वजह से साथ में लेके जाना आसान था और आप मीटिंग में इसे लेकर जा सकते थे। जब पहली बार लैपटॉप लांच किया गया था तो एक लैपटॉप की कीमत थी $795 लेकिन आपको यह जानकर आश्चर्य होगा की इसकी कीमत इतनी ज्यादा होने के बाद भी इसे बहुत सारे लोगों ने खरीदा।

कंप्यूटर का उपयोग

आज कल लगभग हर क्षेत्र में कंप्यूटर का इस्तेमाल होता है। आपको विद्यार्थियों की पढाई के लिए विद्यालय में कंप्यूटर का उपयोग से लेकर रेलवे बुकिंग काउंटर और सभी प्रकार के दुकानों और मॉल में कंप्यूटर दिखाई देगा। कंप्यूटर के आने से सबसे ख़ास बात जो हुई है वो है पहले से ज़्यादा गुणवत्ता और स्पीड। अब आप कंप्यूटर के माध्यम से ज़्यादा तेजी से काम कर सकते हैं और वो भी जीरो डिफेक्ट के साथ।

इससे शिक्षा का स्तर भी बढ़ा है और साथ ही कंप्यूटर द्वारा संचालित नए उपकरणों के आने से ज़्यादा सटीक और अच्छा काम कर पाना संभव हुआ है।साथ ही साथ जितने भी प्रिंटिंग से सम्बंधित कार्य है, जितनी फैक्टरियां चल रही हैं सब कंप्यूटर द्वारा संचालित होती है। इसके अलावा छोटे दुकान जैसे मोबाइल की दुकान, मनी ट्रांसफर, ऑनलाइन टिकट बुकिंग इत्यादि में भी कंप्यूटर का उपयोग होता है। नीचे हम कुछ लिस्ट दे रहे हैं जहाँ कंप्यूटर का इस्तेमाल होता है।

  • Hospital
  • Education
  • Banking
  • Entertainment
  • Factory
  • Government
  • Sports
  • Business
  • Retail
  • Printing Industry

इसके अलावा भी आज तमाम इंडस्ट्री में कंप्यूटर का इस्तेमाल हो रहा है। अगर सही अर्थ में देखें तो अब ऐसा कोई फील्ड ही नहीं है जिसमें कंप्यूटर का इस्तेमाल नहीं हो रहा है। कंप्यूटर का इस्तेमाल हर जगह हो रहा है और इससे कोई भी क्षेत्र अछूता नहीं रहा। अब तो छोटे-छोटे बच्चों को भी गेम खेलने के लिए कंप्यूटर ही चाहिए तो आप इससे समझ सकते हैं कि आज हमारी जो जीवन शैली है वह किस हद तक कंप्यूटर पर निर्भर करती है। अगर एक दिन आपके घर में इंटरनेट का कनेक्शन बंद हो जाए तो विश्वास करिए उस 1 दिन में आप जितने बेचैन होंगे आप जीवन में कभी नहीं हुए होंगे।

कंप्यूटर का फुल फॉर्म Computer Full Form

कंप्यूटर का फुल फॉर्म है “Commonly Operated Machine Particularly Used in Technical and Educational Research

कंप्यूटर का हिंदी नाम क्या है Computer name in Hindi

कंप्यूटर को हिंदी में संगणक कहते हैं क्यूंकि ये गणना करता है किंतु आमतौर पर बोलचाल की भाषा में आपको संगणक शब्द का इस्तेमाल कहीं सुनने क्यों नहीं मिलेगा। आपको सिर्फ सरकारी ऑफिस में संगणक क्षेत्र या फिर संगणक कक्ष ऐसा लिखा हुआ दिखाई देगा। आमतौर पर कंप्यूटर को हम कंप्यूटर कहकर ही बुलाते हैं क्योंकि यह एक टेक्निकल टर्म है तो इस पर ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है।

हमें उम्मीद है आप समझ गए होंगे की computer ka avishkar kisne kiya और computer ke janak कौन हैं। अगर आप जानना चाहते हैं की Online मोबाईल रिचार्ज कैसे करें तो आप ये आर्टिकल पढ़ सकते हैं। अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट में पूछ सकते हैं। नियमित रूप से हमारे आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारा Newsletter सब्सक्राइब करें। दोस्तों इस आर्टिकल को अपने सभी दोस्तों से शेयर करें ताकि यह जानकारी सरल भाषा में भारत के हर नागरिक को पता चले हमारे ब्लॉक पर विजिट करने के लिए और इस आर्टिकल को पूरे मन से अंत तक पढ़ने के लिए आपका तहे दिल से बहुत-बहुत धन्यवाद।

अनिकेत सिन्हा एक गायक, संगीतकार, ब्लॉगर और बिजनेसमैन हैं उन्हें ऑनलाइन जॉब, डिजिटल मार्केटिंग, संगीत, टेक्नोलॉजी और सामान्य ज्ञान जैसे विषयों पर लिखना पसंद है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here